नृत्य संगीत जीवन के लिए जड़ी बूटियां है : ज्योतिष जोशी


 नोयडा (अमन इंडिया)। निर्मला फॉउंडेशन , नोएडा के ' साहित्य समाज का दर्पण ' नामक कार्यक्रम में साहित्य, कला और संस्कृति के प्रसिद्ध आलोचक ज्योतिष जोशी का ऑनलाइन साक्षात्कार हुआ। उनसे बातचीत की नूपुर अग्रवाल ने। बातचीत के पहले प्रिशा कपूर कि जो मायानृत्यम इंस्टिट्यूट ऑफ परफॉर्मिंग आर्ट की छात्रा हैं की एक भावपूर्ण कथक प्रस्तुति हुई। प्रिशा ने बहुत तन्मय होकर अपनी भावपूर्ण भंगिमाओं से दर्शनीय प्रस्तुति दी और दर्शकों को मुग्ध कर दिया। इसके बाद नूपुर अग्रवाल ने आलोचक ज्योतिष जोशी से साहित्य और कला से जुड़े अनेक प्रश्नों ओर बातचीत की। डॉ. जोशी ने अपने उत्तर में साहित्य और कलाओं को आज के समय में परस्पर निकट आने की बात की और कहा कि यह सभी कलाएं एक दूसरे से जुड़ी हुई हैं। संगीत और नृत्य को उन्होंने आज की बड़ी जरूरत बताया और कहा कि आज जो समाज में कोरोना के कारण उदासीनता व्याप्त है और लोगों में सामाजिक विघटन पैदा हुआ है, उसे नृत्य और संगीत के प्रभाव से कम किया जा सकता है और यह संसार रहने लायक बन सकता है। नृत्य और संगीत के महत्व और उसकी भूमिका पर उन्होंने बात करते हुए उनके महत्व प्रकाश डाला और युवा वर्ग को अपनी कला में समग्र समर्पण के साथ काम करने की सीख दी। उन्होंने कलाओं को समाज में जगह देने और माध्यमिक स्तर तक पाठ्यक्रम में शामिल करने की जरूरत पर जोर दिया ताकि बच्चों को एक अच्छा मनुष्य बना सकने में मदद मिले। उन्होंने स्वाधीनता आंदोलन में महात्मा गांधी द्वारा संगीत के इस्तेमाल की दिलचस्प जानकारी देते हुए कहा कि गाँधीजी कहा करते थे कि अगर उनके जीवन से संगीत को हटा दिया जाय तो वे काम करने लायक ही नहीं रह पाएंगे।

Popular posts
एन आर डब्ल्यू ए सेक्टर 15 के चुनाव में निर्विरोध जीते अध्यक्ष सहित सभी पदाधिकारियों को प्रमाण पत्र दिए
Image
ग्रेटर नोएडा वेस्ट फ्लैट बॉयर्स की संस्था नेफोमा ने अधूरे पड़े प्रोजेक्ट के लिए मीटिंग की
Image
डीएफएम फूड्स के सहयोग से ममता हेल्थ इंस्टीट्यूट फॉर मदर एंड चाइल्ड द्वारा संचालित परियोजना सजग के अंतर्गत समाजसेवी सम्मानित किया
Image
फोर्टिस बोन एंड ज्‍वाइंट इंस्‍टीट्यूट, शालीमार बाग ने अपनी ऑर्थोपिडिक सेवाओं को मजबूत किया
Image
हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद ने 23वें हस्तशिल्प निर्यात पुरस्कार समारोह का आयोजन किया
Image