एक दूसरे के सम्मान से कम होंगी डॉक्टर्स और तीमारदार के बीच दूरियां : डॉ डीके गुप्ता




नोएडा (अमन इंडिया)। कोरोना महामारी के बाद लोगों ने एक बार फिर से डॉक्टरों की महत्वता समझी है, लेकिन अब कई लोगों है जो मरीज की हालत नाजुक होने पर इसकी ठीकरा डॉक्टरों पर फोड़ने लगते हैं।इससे न चाहकर भी डॉक्टरों और मरीजों के तीमारदारों के बीच बेहतर रिश्ते नहीं बन पा रहे। इसलिए जरूरी है कि हम सब मिलकर डॉक्टरों का सम्मान करने के साथ उनके काम में किसी प्रकार की दखलअंदाजी न करें। यह बातें फेलिक्स हॉस्पिटल के चेयरमैन डॉक्टर डीके गुप्ता ने नेशनल डॉक्टर्स डे के उपलक्ष्य पर आयोजित

कार्यक्रम में कही। उन्होंने कहा कि जब भी कोई व्यक्ति बीमार पड़ता है, तो वो डॉक्टर के पास ही जाता है, क्योंकि डॉक्टर ही लोगों को छोटी ही नहीं कई गंभीर और खतरनाक बीमारियों से भी बचाते हैं। डॉक्टर को यूं ही भगवान के समान दर्जा नहीं दिया जाता है, उसके पीछे उनकी मेहनत साफ नजर आती है। ऐसे मुश्किल भरे वक्त में डॉक्टर ही उन्हें ठीक करते हैं और एक नई जिंदगी देने का काम करते हैं। किसी भी व्यक्ति के हर दिन एक से नहीं रहते। अगर वह आज स्वस्थ है, तो कल को बीमार भी हो सकता है। ऐसे में उसे डॉक्टर के पास जाना पड़ता है। डॉक्टर के पास कई ऐसे मरीज भी आते हैं, जिन्हें देखकर लगता है कि इनकी जान बचाना अब नामुमकिन है, लेकिन डॉक्टर्स अपने ज्ञान और दवाओं के जरिए उस मरीज को एक नई जिंदगी देते हैं। लेकिन जब खबरें सामने आती हैं कि डॉक्टर्स पर हमला हुआ, तो यह हर किसी को निराश करती हैं। कोरोना काल में तो डॉक्टर्स की महत्वता को हर किसी ने पहचाना। दुनिया ने देखा कि कैसे डॉक्टर्स ने दिन-रात काम करके मरीजों की जान बचाई। जैसे-जैसे मेडिकल साइंस ने तरक्की की है वैसे ही डॉक्टर्स का रूप और रोल बदला है। जब से चिकित्सा सेवा प्रोफेशनल सर्विस में तब्दील होनी शुरू हुई है, तब से कई बार ऐसा भी देखने को मिला है कि डॉक्टर्स पर तरह-तरह के आरोप लगे हैं। अब स्थितियां पहले जैसी नहीं हैं। मेडिकल सर्विस में भी व्यावसायिकता हावी हो रही है और स्पेशलाइजेशन और सुपर स्पेशलाइजेशन का दौर चल पड़ा है। यही कारण है कि अब लोगों को लगने लगा है कि डॉक्टर सेवा नहीं कर रहे, बल्कि लोगों से धन का दोहन करने में लगे हैं। लेकिन ऐसा नहीं है। आज भी ऐसे डॉक्टर हैं जो निस्वार्थ काम कर रहे हैं। डॉक्टर्स के सम्मान में 1 जुलाई को नेशनल डॉक्टर्स डे मनाया जाता है। डॉक्टर बिधान चंद्र राय का जन्मदिन और पुण्यतिथि दोनों ही 1 जुलाई को होती है। इसलिए इस दिन उनके सम्मान में ये दिन मनाया जाता है। इस दिन डॉक्टर्स के महत्व के बारे में लोगों को जागरूक भी किया जाता है।

Popular posts
नॉएडा इंटरप्रिनियोर्स एसोशिएसन ने वरिष्ठ उपाध्यक्ष मुकेश कक्कड़ के नेतृत्व में ग्रेटर नॉएडा में अमृत महोत्सव के अंतर्गत घर घर तिरंगा अभियान निकाला
Image
अध्यक्ष धीरज कुमार और महासचिव ऋषि कुमार ने सभी सफाई कर्मी और सुरक्षा गार्डों को रक्षाबंधन पर्व पर मिठाई बांटी
Image
श्रीकांत की गिरफ्तारी नहीं होने पर सपा पूरे शहर में प्रदर्शन करेगी : पूर्व प्रत्याशी सुनील चौधरी
Image
श्रीकांत की गिरफ्तारी के साथ धारा भी बदली जाए:पंखुड़ी पाठक
Image
विधायक नंदकिशोर गुजर के नेतृत्व में प्रेस वार्ता का आयोजन कर एक नए संगठन का सृजन भारतीय किसान यूनियन (अजगर) के नाम से किया
Image