यूपी ट्रेड शो का उद्घाटन भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गरिमामयी उपस्थिति में किया जाएगा



गौतम बुद्ध नगर (अमन इंडिया ) ।  उत्तर प्रदेश का पहला चिरप्रतीक्षित व्यापार मेला, यूपी इंटरनेशनल ट्रेड शो (UPITS 2023) 21 से 25 सितंबर तक सभी के स्वागत के लिए तैयार है। यह मेला पिछले कुछ सालों में उत्तर प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में हुए शानदार विकास की झलक दिखाएगा। इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट के परिसर में एक प्रेस वार्ता आयोजित की गई, जहां यूपी सरकार अपने प्रदेश के व्यापार, नवाचार, समृद्ध संस्कृति, शिल्प और व्यंजनों को प्रदर्शित करेगी। यह किसी भी राज्य सरकार द्वारा शुरू किया गया अपनी तरह का पहला व्यापार मेला है। यूपी इंटरनेशनल ट्रेड शो 2023 का भव्य उद्घाटन 21 सितंबर 2023 को होने वाला है। पहले यूपी ट्रेड शो का उद्घाटन भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गरिमामयी उपस्थिति में किया जाएगा।

यूपी सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता "नंदी", सूक्ष्म, लघु औऱ मध्यम उद्योग मंत्री राकेश सचान और लोक निर्माण मंत्री ब्रिजेश सिंह अपनी उपस्थिति से इस कार्यक्रम की शोभा बढ़ाएंगे।

सबसे बड़े सोर्सिंग समारोह से पहले यूपी सरकार के प्रतिनिधियों और शो के आयोजकों ने शो की बारीकियों के बारे में जानकारी देने के लिए इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की। यूपी के औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता (नंदी), अपर मुख्य सचिव सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन अमित मोहन प्रसाद, उद्योग सचिव प्रांजल यादव, निदेशक (उद्योग) राकेश कुमार सिंह, अतिरिक्त निदेशक (उद्योग) राज कमल यादव और जिला सूचना अधिकारी राकेश चौहान ने संयुक्त रूप से मीडिया को ट्रेड शो के बारे में जानकारी दी।

औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता ने कार्यक्रम के बारे में जानकारी देने से पहले, कार्यक्रम में भाग लेने वाले पद्म श्री पुरस्कार विजेताओं का सम्मान किया और यूपी के विकास में उनके सहयोग की सराहना की। ये पद्म पुरस्कार विजेता अपनी उपस्थिति से इस कार्यक्रम की शोभा बढ़ाएंगे। नंद गोपाल गुप्ता ने कहा, "जब से सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपना पदभार संभाला है, पीएम मोदी की परिकल्पना के अनुसार राज्य को 1 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था बनाने के लिए उनके प्रयास स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहे हैं। यह शो राज्य की क्षमता को बढ़ाने में मदद करेगा, चाहे वह निर्यात हो, व्यापार हो या उद्योग हो। यह भी निर्णय लिया गया है कि यह शो हर साल होगा।  साथ ही कहा कि हमें इस कार्यक्रम के आयोजन में केंद्र से भारी समर्थन मिला। हमने कई देशों के दूतावासों से संपर्क किया और इसके परिणामस्वरूप 400 से अधिक खरीदारों ने इस कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति की पुष्टि की है। उन्होंने आशा जताई कि यूपीआईटीएस 2023 भी इनवेस्टर्स समिट की तरह ही भव्य होगा जो कि फरवरी 2023 में आयोजित हुआ था।" उन्होंने आगे कहा कि यूपी असीम अवसरों का राज्य है, जहां देश भर के लोग अपने उद्योग स्थापित करना चाहते हैं और दुनिया भर के लोग यूपी में निवेश करने के इच्छुक हैं। मुझे उम्मीद है कि इस आयोजन से राज्य को दुनिया भर में पहचान मिलेगी।

अमित मोहन प्रसाद, आईएएस, अपर मुख्य सचिव सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन ने शो के बारे में बताते हुए कहा कि इस मेले में एक तरफ उद्योगों के के बड़े खिलाड़ी भाग ले रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों से भी लोग यहां एकजुट होंगे। यह मल्टीसेक्टोरल और मल्टी प्रॉडक्ट शो है जो यूपी की संपूर्ण बिजनेस रेंज को प्रदर्शित करेगा। साथ ही बताया कि हमने पहले ही 60,000 से अधिक खरीदारों के रजिस्ट्रेशन का आंकड़ा पार कर लिया है।

इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट के अध्यक्ष राकेश कुमार ने शो के बारे में जानकारी साझा करते हुए कहा कि शो में न केवल उद्योग और व्यापार जगत के लोग भाग लेंगे, बल्कि हमने छात्रों और विश्वविद्यालयों को भी इस आयोजन से जोड़ा हैं। इस मेले में राज्य के प्रमुख विश्वविद्यालय अपने ज्ञान सत्र आयोजित करेंगे। शारदा विश्वविद्यालय, गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय और शिव नादर विश्वविद्यालय द्वारा शिक्षा और उद्योग साझेदारी पर एक सत्र आयोजित किया जाएगा। यह सत्र छात्रों को वैश्विक व्यापार और बाजार में नए रुझानों और नवाचारों के बारे में ज्ञान देगा। हॉल नं. 14 और 15 में स्टार्टअप्स और नए उद्यमियों को जगह दी गई है। श्री राकेश कुमार ने कहा कि मेले में कोई प्रवेश शुल्क नहीं है और आम लोगों को सार्वजनिक समय के दौरान शो देखने की अनुमति है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के दूरदर्शी नेतृत्व में, राज्य ने आर्थिक परिदृश्य को फिर से परिभाषित करते हुए उत्तर प्रदेश को भारत के विकास इंजन में बदलने की एक अविश्वसनीय यात्रा शुरू की है। यूपीआईटीएस 2023 एक बी2बी और बी2सी शो है जो उत्तर प्रदेश की विकास गाथा में सामूहिक रूप से योगदान देने वाले कई क्षेत्रों को बढ़ावा देने के लिए एक मंच प्रदान करेगा और उन सभी को वैश्विक मान्यता दिलाने और सहयोग के लिए एकजुट करेगा। व्यापार शो में महिला उद्यमियों, नए/युवा उद्यमियों, स्टार्टअप, एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी), हस्तशिल्प, हथकरघा, उभरते/मौजूदा निर्यातकों, आईटी/आईटीईएस, कृषि और संबद्ध क्षेत्रों सहित उद्योगों की एक विस्तृत श्रृंखला शामिल है। इसके अतिरिक्त, स्वास्थ्य, शिक्षा, पर्यटन और संस्कृति जैसे क्षेत्र भी अपनी क्षमता का प्रदर्शन करेंगे।

यह आयोजन भारत की अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंचाने की प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना के अनुरूप, अगले पांच वर्षों के भीतर राज्य के लिए 1 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर की अर्थव्यवस्था हासिल करने के लक्ष्य के अनुरूप है। यूपी इंटरनेशनल ट्रेड शो 2023 एक महत्वपूर्ण आयोजन है, जो 66 देशों के 400 से अधिक विदेशी खरीदारों और देश भर से 60,000 से अधिक खरीदारों को आकर्षित करके राष्ट्रीय और वैश्विक दोनों स्तरों पर उत्तर प्रदेश की प्रगति सुनिश्चित करने का प्रयास है। यह उत्सव अपने सांस्कृतिक मूल्यों और विरासत को कायम रखते हुए एक आर्थिक महाशक्ति बनने की दिशा में उत्तर प्रदेश की यात्रा को गति देगा। यह मेला  नवाचार और विकास की आधारशिला रखते हुए राज्य के उज्ज्वल भविष्य को परिभाषित करेगा। यह राज्य की कला, शिल्प, संस्कृति और व्यंजनों के बारे में विस्तार से जानने का भी एक अवसर है।

इस बहु-क्षेत्रीय समारोह में महिला उद्यमियों, नए/युवा उद्यमियों, स्टार्टअप, ओडीओपी, जीआई उत्पादों, हस्तशिल्प, हथकरघा, उभरते/मौजूदा निर्यातकों, आईटी/आईटीईएस, कृषि और संबद्ध क्षेत्र सहित उद्योगों की एक विविध श्रृंखला शामिल होगी। स्वास्थ्य, शिक्षा, पर्यटन और संस्कृति जैसे कई अन्य सेवाएं प्रदान करने वाले क्षेत्र भी अपनी क्षमता दिखाएंगे। एमएसएमई और ओडीओपी के अलावा ऑटोमोबाइल और ईवी, इलेक्ट्रॉनिक्स, आईटी और आईटीईएस, कृषि, बागवानी और रियल एस्टेट सहित विभिन्न श्रेणियों के 2000 से ज्यादा उत्पादक और दिग्गज भी इस शो में भाग लेंगे और अपना दमखम दिखाएंगे। इसी श्रृंखला में हॉल ऑफ एक्सपोर्ट एक्सीलेंस के रूप में एक विशेष हॉल भी स्थापित किया गया है।

इस मेगा ट्रेड शो के माध्यम से 300 महिला उद्यमियों और 400 से अधिक स्टार्टअप को विश्व स्तर पर अंतरराष्ट्रीय मंच और पहचान मिलेगी। लगभग 150 प्रदर्शक 54 श्रेणियों में जीआई उत्पादों का प्रदर्शन करेंगे, जिन्होंने अपनी विशिष्टता के लिए यूपी को विश्व स्तर पर पहचान दिलाई है। इसके अलावा 75 जिलों के सभी ओडीओपी उत्पादों का प्रदर्शन किया जाएगा। यूपी इंटरनेशनल ट्रेड शो 2023 व्यवसायों, नीति निर्माताओं, निवेशकों और जनता को जुड़ने, नेटवर्क बनाने और सहयोग के अवसर तलाशने के लिए एक व्यापक मंच प्रदान करेगा।

21 से 25 सितंबर तक यूपीआईटीएस 2023 में शामिल होने से आगंतुकों को नए उत्तर प्रदेश को परिभाषित करने वाली गतिशीलता, नवाचार और विकास के बारे में जानने का मौका मिलेगा। खरीदारों, थोक विक्रेताओं, उद्योगों और व्यापारों के प्रतिनिधियों के लिए व्यापारिक दौरे का समय सुबह 11 बजे से दोपहर 3 बजे तक होगा, जबकि सार्वजनिक दौरे का समय दोपहर 3 बजे से रात 8 बजे तक होगा। जनता के लिए कोई प्रवेश शुल्क नहीं है और वाहनों को पार्क करने के लिए विशाल पार्किंग स्थान उपलब्ध है। कोई भी व्यक्ति शटल सेवाओं का लाभ उठा सकता है जो जल्द ही शुरू की जाएंगी और विभिन्न स्थानों से आयोजन स्थल तक पहुंचाई जाएंगी। हर किसी के लिए 5-दिवसीय शो के दौरान रोमांचक ईनाम जीतने का भी अवसर होगा।

शिल्प, संस्कृति, व्यंजन, व्यापार और उद्योगों को पहली बार बढ़ावा देने से असाधारण उपस्थिति देखने की उम्मीद है, इसलिए सुरक्षा और परिवहन जैसी सभी व्यवस्थाएं की गई हैं। इस ऐतिहासिक घटना का हिस्सा बनना हर प्रदेशवासी के लिए पूरी तरह से एक नया अनुभव होगा, जो इसे अपरिहार्य बनाता है।

Popular posts
नोएडा पंजाबी एकता समिति द्वारा गुरद्वारा में बैसाखी का उत्सव बहुत ही धूमधाम से मनाया गया
Image
सीके बिड़ला हॉस्पीटल®, दिल्ली ने जटिल और एडवांस ब्रैस्ट कैंसर से पीड़ित दो महिला मरीजों का रोबोटिक-एसिस्टेड ब्रैस्ट प्रीज़र्वेशन सर्जरी की मदद से सफल उपचार किया
Image
लिवर सिरोसिस में शराब की एक बूंद भी नुकसानदेह
Image
फिजिक्स वाला ने दिल्ली में अपना पाँचवाँ टेक-इनेबल्ड ऑफ़लाइन विद्यापीठ सेंटर लॉन्च किया
भाजपा का संकल्प अगले 5 वर्षों तक मुफ्त राशन, गैस कनेक्‍शन और PM सूर्य घर से जीरो बिजली बिल का सपना होगा साकार, फिर एक बार मोदी सरकार
Image