भारतीय ट्रक मालिकों का भरोसेमंद है WheelsEye नई

 दिल्ली(अमन इंडिया)।  भारतीय लॉजिस्टिक क्षेत्र (खासकर ट्रकिंग जगत) लंबे समय से तकनीकी उपकरणों और इसके उपयोगों से अनजान रहा है। लेकिन, WheelsEye Technology India Private Limited जैसे नए और उन्नतिशील स्टार्ट-अप  की वजह से स्थिति अब तेजी से बदल रही है। आज, भारतीय सड़कों पर चलने वाले सभी ट्रकों में से 10 लाख से भी अधिक ट्रक WheelsEye से जुड़े हुए हैं। इतना ही नहीं, हर दिन कई लोग इस मंच से जुड़ रहे हैं। अगर औसतन देखा जाए तो, WheelsEye प्लेटफॉर्म से हर रोज लगभग 1000 ट्रक जुड़ते हैं।


ट्रक मालिकों को WheelsEye पर काफी भरोसा है क्योंकि इसकी मदद से ट्रकों को GPS से ट्रैक करना, फास्टैग मैनेज करना, डीजल पर कैशबैक सहित कई सेवाएं ट्रक मालिकों को आसानी से मिलती है। इन सब के अलावा WheelsEye, ट्रकों की बेहतर सुरक्षा, रियल टाइम विजिबिलिटी और ट्रकों के परिचालन को सुव्यवस्थित करने के लिए बहुत सारे अवसर, खर्चे, और व्यवसाय में लाभ पाने का तरीका भी अपने ग्राहकों को बताता है।


फिलहाल, देश भर के 1,500 से भी अधिक शहरों में WheelsEye अपनी सेवाएं और सहायता प्रदान करता है। कंपनी ने छोटे शहरों में अपनी सेवाएं और इन्फ्रा को मजबूत किया है और काफी तेजी से विकास की ओर अग्रसर है। बहुत कम ही समय में, WheelsEye ट्रक मालिकों और ड्राइवरों के बीच एक मशहूर नाम बन गया है।


कंपनी के विकास पर बोलते हुए, WheelsEye के EIR सोनेश जैन ने कहा, “WheelsEye में हम छोटे और मध्यम ट्रक मालिकों को सरलतम और सबसे अत्याधुनिक तकनीकी उपकरणों के साथ सशक्त बनाते हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य उन्हें बढ़ती कार्य क्षमता और आत्मविश्वास के साथ व्यापार चलाने में मदद करना है।


Popular posts
पीड़ितों की मदद शहर के 60 से ज़्यादा सामाजिक संगठनों का समूह पंहुचा रहा मदद
Image
उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल नोएडा इकाई और नोएडा स्टेशनरी वेलफेयर एसोसिएशन के सौजन्य से आज सेक्टर 5 स्थित हरौला लेबर चौक पर मास्क वितरण
Image
कांग्रेसियों ने बहलोलपुर आगजनी घटना से प्रभावित लोगों की हर संभव मदद करने की सरकार/जिला प्रशासन से की अपील
Image
प्राधिकरण के तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों का स्थानांतरण के सम्बंध मे विधायक से मिले विभिन्न संगठन
Image
इस IPL 2021 क्रिकेट सीजन में, क्रिकेट प्रशंसकों के लिए Amazon.in पर बनाए गए विशेष store के साथ घर को बनाएं स्टेडियम