विश्व साइकिल दिवस बेहतर स्वास्थ्य और स्वच्छ पर्यावरण के लिए चलाएं साइकिल :डॉ डी के गुप्ता

नोएडा (अमन इंडिया ) ।


विश्व साइकिल दिवस बेहतर स्वास्थ्य और स्वच्छ पर्यावरण के लिए चलाएं साइकिल हर साल 3 जून को दुनियाभर में विश्व साइकिल दिवस मनाया जाता है। इसका उद्देश्य साइकिल के महत्व को महत्व को समझाते हुए स्वास्थ्य और पर्यावरण को होने वाले फायदों को लेकर जागरूक करना है। साइकिल चलाने से सेहत को कई फायदे होते हैं। इसे नियमित तौर पर चलाने से शरीर स्वस्थ और तंदुरुस्त रहता है। यह लोगों में स्फूर्ति का संचार करता है। यही कारण है कि संयुक्त राष्ट्र महासभा ने जागरूकता फैलाने के लिए 2018 में ‘विश्व साइकिल दिवस’ मनाने की शुरुआत की। यह बातें विश्व ‘विश्व साइकिल दिवस पर फेलिक्स अस्पताल के चेयरमैन डॉ डी. के. गुप्ता  ने लोगों को जागरूक करने के दौरान कही। डॉ डी. के. गुप्ता ने कहा कि बेहतर स्वास्थ्य और स्वच्छ पर्यावरण के लिए साइकिल चलाएं। फिजिकल एक्टिविटी जैसे चलना, साइकिल चलाना या खेलकूद करना स्वास्थ्य के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। साइकिल चलाने से स्वस्थ्य रहा जा सकता है। वहीं गरीब शहरी क्षेत्र के लिए, जहां लोग निजी वाहनों का खर्च नहीं उठा सकते और पैदल चलना कई बार मुश्किलों भरा होता है उनके लिए साइकिल चलाना काफी मददगार साबित होता है। इससे हृदय रोग, स्ट्रोक, कई तरह के कैंसर, डायबिटीज जैसे जोखिमों को कम करने में मदद मिल सकती है। साइकिल चलाने से शरीर का निचला हिस्सा काफी मजबूत होता है। इससे मसल्स, काव्स और क्वाड्रिसेप्स टोंड होते हैं। साइकिल चलाने से सहनशक्ति में सुधार होता है। इतना ही इससे कार्डियोवैस्कुलर की सहनशक्ति को बढ़ाने में भी मदद मिलती है। साइकिल चलाने के दौरान हार्ट रेट काफी बढ़ जाती है, जिससे दिल खून को अधिक प्रभावी ढंग से पंप करता है। साइकिल चलाने से डिप्रेशन, चिंता और तनाव को रोकने में भी मदद मिलती है। इसके अलावा साइकिल चलाने से हैप्पी हार्मोन रिलीज होते हैं, जो मूड को अच्छा करते हैं। रोज कुछ घंटे की साइकिलिंग से नींद भी अच्छी आती है। साइकलिंग व्यायाम करने का सबसे आसान और मजेदार तरीका है। बस रोजाना आधे घंटे के लिए साइकिल की सवारी करने से लगभग 300 किलो कैलोरी जलाने में मदद मिल सकती है। साइकिल चलाने से निचले शरीर के जोड़ों को हेल्दी रखने में मदद मिलती है और पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस के जोखिम को कम किया जा सकता है। साइकिल की सवारी करना स्वास्थ्य की दृष्टि से बेहद फायदेमंद है। विशेषज्ञों के अनुसार प्रतिदिन 30 मिनट साइकिल की सवारी हमारे शरीर में मौजूद इम्यून सेल को सक्रिय करती है, जिससे बीमार होने का खतरा कम हो जाता है। साइकिल की सवारी करना ना सिर्फ शारीरिक स्वास्थ्य, बल्कि मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक है। रोजाना साइकिल की सवारी करने से मस्तिष्क अधिक सक्रिय रहता है, सोचने समझने की क्षमता बढ़ती है, साथ ही ये तनाव को भी कम करती है। डायबिटीज के मरीज फिजिकल एक्टिविटी के तौर पर साइकिल का उपयोग करके इसे नियंत्रण में रख सकते हैं। इम्यून सिस्टम को मजबूती मिलती है और फिट बॉडी हर बीमारी से लड़ने की ताकत देती है। प्रॉपर तरीके से ब्लड फ्लो भी साइकिल चलाने से बॉडी में होता है। दिल के दौरे का जोखिम भी कम किया जा सकता है। एक तरफ जहां पेट्रोल, डीजल की कीमत आसमान छू रही है तो दूसरी तरफ उनके ज्यादा इस्तेमाल से वातावरण को क्षति पहुंचती है। तमाम गाडियां रोड पर चलते हुए हार्मफुल गैसेज छोड़ जाती हैं जिसकी वजह से हमारे पर्यावरण को हानि पहुंचती है। ऐसे में साइकिल का उपयोग एनवायरनमेंटल फ्रेंडली साबित होता है। अधिक जरूरी होने पर ही व्हीकल का इस्तेमाल होने पर हम अपनी धरती को प्रदूषण से छुटकारा पाने में मदद कर सकते हैं। हर इंसान अगर साइकिल के इस्तेमाल को पहल करना शुरू करते हैं तो काफी हद तक वातावरण को पॉल्यूशन फ्री बनाया जा सकता है।

Popular posts
नोएडा पंजाबी एकता समिति द्वारा गुरद्वारा में बैसाखी का उत्सव बहुत ही धूमधाम से मनाया गया
Image
सीके बिड़ला हॉस्पीटल®, दिल्ली ने जटिल और एडवांस ब्रैस्ट कैंसर से पीड़ित दो महिला मरीजों का रोबोटिक-एसिस्टेड ब्रैस्ट प्रीज़र्वेशन सर्जरी की मदद से सफल उपचार किया
Image
लिवर सिरोसिस में शराब की एक बूंद भी नुकसानदेह
Image
फिजिक्स वाला ने दिल्ली में अपना पाँचवाँ टेक-इनेबल्ड ऑफ़लाइन विद्यापीठ सेंटर लॉन्च किया
भाजपा का संकल्प अगले 5 वर्षों तक मुफ्त राशन, गैस कनेक्‍शन और PM सूर्य घर से जीरो बिजली बिल का सपना होगा साकार, फिर एक बार मोदी सरकार
Image