फोर्टिस कैंसर इंस्‍टीट्यूट ने संकट से गुजर रहे कैंसर मरीज़ों के परिजनों के लिए शुरू की कैंसर सपोर्ट हैल्‍पलाइन


नेशनल हेल्‍पलाइन नंबर 8586091051 उपलब्‍ध है - सोमवार से शनिवार सवेरे 9 बजे से शाम 6 बजे तक

नई दिल्‍ली (अमन इंडिया ) ।  फोर्टिस कैंसर इंस्‍टीट्यूट ने मरीज़ों और उनके परिवार के सदस्‍यों को मनोवैज्ञानिक रूप से सहयोग प्रदान करने के मकसद से एक कैंसर सपोर्ट हेल्‍पलाइन शुरू की है। नेशनल हेल्‍पलाइन नंबर – 8586091051 इन परिवारों को कैंसर के खिलाफ जारी उनके युद्ध के दौरान उनकी भावनात्‍मक तकलीफों को कम करने में मददगार होगा। हेल्‍पलाइन नंबर से संपर्क करने वाले लोगों को मदद देने के लिए फोर्टिस मेंटल हैल्‍थ एंड बिहेवियरल साइंसेज़ द्वारा संचालित साइको-ओंकोलॉजी प्रोग्राम के तहत् हैल्‍थ एक्‍सपर्ट्स की टीम उपलब्‍ध होगी। 


कैंसर का इलाज लंबा चलता है, रोग का पता लगाने से थेरेपी और रिहेबिलिटेशन तक की प्रक्रिया काफी समय तक चलती है। साथ ही, कैंसर और उसका इलाज भी मरीज़ों तथा उनकी देखभाल में जुटे केयरगिवर्स के लिए भावनात्‍मक संकट का कारण बनता है जिसके चलते वे डर, चिंता, अवसाद और कभी इस नई सच्‍चाई से तालमेल बैठाने तथा अपनी लाइफस्‍टाइल में बदलाव लाने पर परेशानियों से जूझते हैं। ऐसे वक्‍त में इन परिवारों के लिए साइको-सोशल सपोर्ट की आवश्‍यकता होती है ताकि वे इस रोग से एकजुट होकर जूझ सकें। फोर्टिस कैंसर इंस्‍टीट्यूट ने इसी उद्देश्‍य से  इस नेशनल कैंसर सपोर्ट हेल्‍पलाइन को शुरू किया है। 


डॉ समीर पारीख, डायरेक्‍टर, मेंटल हैल्‍थ एंड बिहेवियरल साइंसेज़, फोर्टिस हैल्‍थकेयर ने कहा, ''कैंसर की संपूर्ण देखभाल के लिए यह समझना जरूरी होता है कि इस रोग से मरीज़ों और उनकी देखभाल करने वाले परिवारों पर किस प्रकार का मनोवैज्ञानिक प्रभाव पड़ता है। परिजन इस दौरान कई प्रकार के भावनात्‍मक तनाव, मनौवैज्ञानिक संकट के दौर से गुजरते हैं और साथ ही, उन्‍हें अपने मरीज़ के लिए भी सपोर्ट की आवश्‍यकता होती है। इस संदर्भ में, परिजनों के लिए सपोर्ट तथा केयर एवं गाइडेंस प्रदान करना महत्‍वपूर्ण होता है ताकि वे अपनी और मरीज़ों की उचित देखभाल कर सकें। यह एक स्‍पेशल हेल्‍पलाइन है जो उन मरीज़ों के परिजनों के लिए मनोवैज्ञानिक तथा भावनात्‍मक सपोर्ट उपलब्‍ध कराती है जिनके परिवार में कैंसर रोगी हैं। यह हेल्‍पलाइन फोर्टिस मेंटल हैल्‍थ एंड बिहेवियरल साइंसेज़ की अनूठी पहल है जो कि समूचे फोर्टिस नेटवर्क में ओंको साइंसेज़ की टीम के साथ मिलकर काम करते हैं।'' 


इस हेल्‍पलाइन नंबर के बारे में डॉ विनोद रैना, चेयरमैन – ओंकोसाइंसेज़, फोर्टिस हैल्‍थकेयर ने कहा, ''फोर्टिस हैल्‍थकेयर ऐसा पहला हैल्‍थकेयर डिलीवरी संगठन है जिसने कैंसर मरीज़ों के परिजनों को मार्गदर्शन तथा सहयोग प्रदान करने के मकसद से एक कैंसर सपोर्ट हेल्‍पलाइन शुरू की है। यह पहल फोर्टिस कैंसर इंस्‍टीट्यूट के साइको-ओंकोलॉजी प्रोग्राम के तहत् की गई है। हर बीत रहे साल के साथ कैंसर के मामलों में आश्‍चर्यजनक रूप से बढ़ोतरी हो रही है। इस रोग से शारीरिक रूप से लड़ना सिर्फ एक ही पहलू है जबकि मरीज़ और केयरगिवर के भावनात्‍मक तथा मनोवैज्ञानिक पहलुओं की उपेक्षा हो जाती है। इस रोग को तभी हराया जा सकता है जबकि मरीज़ और उनकी देखभाल करने वाले लोग भी भावनात्‍मक तथा मानसिक तौर पर मजबूत हों। इसी को ध्‍यान में रखकर कैंसर हेल्‍पलाइन शुरू की गई है।

Popular posts
विश्व जैन संगठन मैं फ्री हेल्थ चेकअप कैंप का आयोजन किया
Image
विश्व में पत्रकारिता का आरंभ सन 131 ईस्वी पूर्व रोम में हुआ था उसी वर्ष से पहला दैनिक समाचार-पत्र निकलने लगा जिसका नाम था " ऐकटा डुरीना
Image
भविष्य को ध्यान में रखकर प्रॉडक्ट्स बनाने वाली हेल्थटेक कंपनी एथर माइंडटेक ने इवॉल्व28 लॉन्च किया
ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड ने नौ महीनों के परिणामों की घोषणा की
राष्ट्रीय अध्यक्ष बलराज भाटी ने 21 फरवरी को महापंचायत का ऐलान करते हुए रक्षा मन्त्री राजनाथ सिंह के दिल्ली आवास के घेराव के लिए दिल्ली कूच का आव्हान किया
Image