फोनरवा की कार्यवाही असवैधानिक:एन पी सिंह

 


नोएडा(अमन इंडिया)।


फेडरेशन ऑफ नोएडा रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा दिनांक 29 11 2020 को जो सामान्य सभा का आयोजन किया गया था वह मीटिंग निम्न कारणों से नियम विरुद्ध है जिस के संबंध में हमारे द्वारा एक प्रति डिप्टी रजिस्ट्रार फर्म सोसायटी एवं स्वीट्स मेरठ को दिनांक 11:12 2020 को पत्र प्राप्त करा दिया गया था जिसका संज्ञान लेते हुए डिप्टी रजिस्ट्रार महोदय मेरठ द्वारा एक कारण बताओ नोटिस अध्यक्ष जनरल सेक्रेटरी फरवा को दिनांक 21 2020 को पत्र पेश करते हुए हमारे पत्र में उल्लेख सभी बिंदुओं पर बिंदुवार आठ या परमाणु अभिलेखों सहित 15 दिन में प्रस्ताव करने के निर्देश दिए हैं हमारे पत्र दिनांक 11:12 2020 के उल्लेख किया गया है प्रेस कॉन्फ्रेंस में शिकायतकर्ता और संस्थापक सदस्य पी सी जैन , एन पी सिंह, गिरजा सिंह ने फोरनवा पर आरोप लगाए कि सदस्ययो कि सदस्यता समाप्त करना  गलत है।                                               बैठक में पास किया गया तथा ना ही जनरल बोर्ड की मीटिंग के एजेंडे में किया गया है इसे मीटिंग में रखना ही नियम विरुद्ध है तथा इस पर विचार ही नहीं किया जा सकता

02. उक्त बैठक सामान्य सभा जीबीएम हेतु नोटिस दिन दिनांक 11 2020 से फेडरेशन कार्यालय 111 सेक्टर 52 नोएडा में बुलाई गई थी परंतु अचानक दिनांक 27 11:00 2020 को व्हाट्सएप मैसेज डालकर मीटिंग की तिथि से केवल 2 दिन पूर्व सभा का स्थान परिवर्तित कर दिया गया जिसकी सूचना सभी सदस्यों को नहीं मिली अटैक काफी सदस्य पुराने पते से वापस हो गए इसका अलग से 15 दिन का नोटिस दिया जाना चाहिए था

03. दिनांक 17 11 2020 को व्हाट्सएप मैसेज में जीबीएम को एजीएम जीबीएम बना दिया गया जबकि एजीएम के संबंध में पूर्व में कोई नोटिस नहीं दिया गया था नोटिस केवल जीबीएम के लिए था

04. संविधान संशोधन करने के लिए स्पेशल जनरल बोर्ड मीटिंग बुलाए जाने का प्रधान है जो नहीं बुलाई गई


05. कोविड-19 कॉल में बिना अनुमति के मीटिंग बुलाया जाना नियम विरुद्ध है जबकि फोन और वाक्य 40% सदस्य वरिष्ठ नागरिक हैं कोविड-19 लाइन के अनुसार वह सदस्य किसी मीटिंग में उपस्थित नहीं हो सकते थे


06 उक्त सामान्य सभा में काफी सदस्य ऐसे भी उपस्थित थे जिन्होंने अभी तक वर्ष 2019 20 के सदस्यता शुल्क नहीं दिया है जो 16 12 2020 तक भी नहीं जमा हुए हैं ऐसे सदस्य जीबीएम भी अटेंड नहीं कर सकते हैं


07 . पुनर बा बाइलॉज के नियम वाली क्रम संख्या छह में उल्लेखित है कि 8 कारणों से सदस्यता समाप्त की जा सकती है जबकि 8 कारणों में से किसी एक का भी उल्लेख एजेंडे में नहीं किया

08. आरडब्ल्यूए के प्रतिनिधियों पर किसी भी प्रकार का प्रतिबंध लगाना पूर्णता ए संविधानिक है क्योंकि अगले से फेडरेशन का अस्तित्व है फेडरेशन से आरडब्लूए का नहीं यह भी गैरकानूनी प्रस्ताव है

   उपरोक्त सभी आधार पर बुलाई गई सामान्य सभा पूर्णता गैरकानूनी है अतः उक्त बैठक में पारित सभी प्रस्ताव समाप्त किए जाने योग्य हैं जिस के संबंध में माननीय डिप्टी रजिस्ट्रार फर्म सोसायटी एवं चिट्स द्वारा एक कारण बताओ नोटिस दिनांक 21 12 2020 को जारी किया गया है इस प्रकार डिप्टी रजिस्ट्रार के अनुमोदन के बिना कोई संविधान संशोधन अनु मान्य नहीं है दादा अनुसार संस्था के फाउंडर सदस्य आजीवन सदस्यों की सदस्यता समाप्त नहीं हुई है वह आज भी संस्था के सभी अधिकारों सहित पूर्ण तिथि सदस्य हैं

Popular posts
पीड़ितों की मदद शहर के 60 से ज़्यादा सामाजिक संगठनों का समूह पंहुचा रहा मदद
Image
उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल नोएडा इकाई और नोएडा स्टेशनरी वेलफेयर एसोसिएशन के सौजन्य से आज सेक्टर 5 स्थित हरौला लेबर चौक पर मास्क वितरण
Image
प्राधिकरण के तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों का स्थानांतरण के सम्बंध मे विधायक से मिले विभिन्न संगठन
Image
कांग्रेसियों ने बहलोलपुर आगजनी घटना से प्रभावित लोगों की हर संभव मदद करने की सरकार/जिला प्रशासन से की अपील
Image
इस IPL 2021 क्रिकेट सीजन में, क्रिकेट प्रशंसकों के लिए Amazon.in पर बनाए गए विशेष store के साथ घर को बनाएं स्टेडियम