नोएडा स्थित डिजिटल-फर्स्ट प्लेटफॉर्म म्युचुअल फंड में निवेश करने के लिए दूरदराज के क्षेत्रों और टाउनशिप की शुरूआत

 निवेश ने भारत के अंदरूनी क्षेत्रों में म्युचुअल फंड में निवेश को बढ़ावा दिया


नोएडा स्थित डिजिटल-फर्स्ट प्लेटफॉर्म म्युचुअल फंड में निवेश करने के लिए दूरदराज के क्षेत्रों और टाउनशिप में शुरूआत कर रहा है। यह देश भर में म्युचुअल फंड वितरकों को अपने कारोबार को बढ़ाने में मदद कर रहा है।


 नोएडा (अमन इंडिया)। वेल्थटेक 100 में जगह बनाने में सफल रहा Nivesh.com दूरदराज के क्षेत्रों में म्युचुअल फंड की पहुंच बनाने के अपने प्रयासों में सफल रहा है। ग्रामीण भारत में ब्रांड के नेटवर्क को विकसित करने के निरंतर प्रयासों के साथ, डिजिटल-फर्स्ट प्लेटफॉर्म उपनगरीय क्षेत्रों में स्वतंत्र म्युचुअल फंड वितरकों को अत्याधुनिक तकनीक के साथ अपने एयूएम (एसेट अंडर मैनेजमेंट) को विकसित करने में सक्षम बनाता है।


डिजिटल-फर्स्ट प्लेटफॉर्म Nivesh.com ने टियर-2 और टियर-3 शहरों में अपना नेटवर्क स्थापित कर लिया है। कंपनी ने बताया है कि भारत में म्युचुअल फंड, कॉरपोरेट एफडी, बीमा इत्यादि जैसे वित्तीय उत्पादों की बेहद कम पहुंच है और देश में ऐसे 19.5 करोड़ परिवार हैं, जो इन उत्पादों की पहुंच से दूर हैं। निवेश के लिए संगठन ने देश के दूरदराज के हिस्सों और छोटे शहरों तक पहुंचने के लिए अथक प्रयास किया है, क्योंकि उनका मानना है कि म्युचुअल फंड वितरक छोटी टाउनशिप और उससे आगे वित्तीय उत्पादों के विस्तार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। घरेलू संपत्ति का लगभग 50% हिस्सा यानी लगभग 170 लाख करोड़ रुपये बैंक जमा के रूप में है। निवेश का मानना है कि यह एक बड़ा अवसर है, क्योंकि वित्तीय जागरूकता ऐसे निवेशकों को यह समझने में मदद करती है कि बैंकों में पैसा रखना महंगाई के लिहाज से नुकसानदेह कदम है। 


निवेश की सफलता इसकी संख्या में भी झलकती है। आज, इसके ग्राहक पूरे भारत में 3,000 से अधिक पिन-कोड क्षेत्रों में स्थित हैं। 60 प्रतिशत ग्राहक और 50 प्रतिशत एयूएम शीर्ष 30 शहरों से बाहर के हैं। जबकि उद्योग के स्तर पर एयूएम का 20% से कम हिस्सा इस सेगमेंट से आता है।


Nivesh.com के संस्थापक और सीईओ अनुराग गर्ग ने कहा, “एक ब्रांड के रूप में हमने यह धारणा स्थापित की है कि हमारा मंच सभी के लिए है। जब हमने शुरुआत की, तो महानगरों और अन्य छोटे शहरों या दूरदराज के इलाकों के बीच निवेश की संख्या में बहुत स्पष्ट असमानता थी। हमने इस अंतर को खत्म करने की दिशा में अथक प्रयास किया है और अब हम इसके सकारात्मक परिणाम देख रहे हैं। निकट भविष्य में, म्युचुअल फंड उद्योग के ट्रिलियन-डॉलर का उद्योग बनने की उम्मीद है, और निवेश में हमें उम्मीद है कि इस विकास का एक महत्वपूर्ण हिस्सा शीर्ष 30 शहरों से आगे के निवेश से आएगा, और हम इसमें सबसे आगे होंगे।”


निवेश के पार्टनर के रूप में, असम के तिनसुकिया के रत्नजीत भट्टाचार्जी ने अपने अनुभव के बारे में बताया, “मुझे आज भी वे दिन याद हैं जब मैं एक डाकघर एजेंट के रूप में काम करता था, और अब मैं Nivesh.com का पार्टनर हूं। मेरे जीवन में जो बदलाव आया है वह बहुत बड़ा है। लंबे समय से वित्तीय उत्पादों में रुचि रखने के कारण, मैं एक म्युचुअल फंड सलाहकार बनना चाहता था, लेकिन ग्राहकों तक पहुंचना कोई आसान काम नहीं था। निवेश से जुड़ना मेरे लिए व्यक्तिगत रूप से एक वरदान रहा है, क्योंकि अब मैं सब कुछ ऑनलाइन होने के कारण अधिक ग्राहकों तक पहुंच सकता हूं। आज मेरे पास 166 खुश ग्राहक हैं, एयूएम का मूल्य 8.2 करोड़ रुपये है। मेरे शहर में निवेश की पहुंच अद्भुत रही है और लगभग 50% तिनसुकिया ने इस प्लेटफॉर्म में निवेश किया है।”


Nivesh.com के विषय में

निवेश एक मोबाइल-फर्स्‍ट डिजिटल प्लेटफॉर्म है जो म्युचुअल फंड और अन्य वित्तीय उत्पादों के वितरकों को अत्याधुनिक तकनीक के साथ देश में अपनी पहुंच बढ़ाने में मदद करता है। प्लेटफॉर्म वितरकों को अपने कारोबार का विस्तार करने और नए ग्राहकों को लाने में सक्षम बनाता है, जिन्हें अब विभिन्न एएमसी के लिए सेवा दी जा सकती है और इसलिए बेहतर पोर्टफोलियो प्रदर्शन का अनुभव होता है।

 

फिनटेक कंपनी की स्थापना अनुराग गर्ग ने की थी और श्रीधर श्रीनिवासन इसके सह-संस्थापक और सीटीओ हैं। मंच ने हाल ही में आईएएन फंड के नेतृत्व में 1.6 मिलियन डॉलर की पूंजी जुटाई है। 2020 में निवेश को वेल्थटेक100 में सूचीबद्ध किया गया था, जो उद्योग के विशेषज्ञों और विश्लेषकों के एक पैनल द्वारा चुनी गई दुनिया की सबसे नवीन वेल्थटेक कंपनियों की शीर्ष 100 की वार्षिक सूची है। चयनित कंपनियों को एक महत्वपूर्ण उद्योग समस्या का समाधान करने, लागत बचत करने या निवेश मूल्य श्रृंखला में दक्षता में सुधार करने के लिए तकनीकी के उनके अभिनव उपयोग के लिए मान्यता दी जाती है।