राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अल्पसंख्यक मोर्चा इरफान अहमद के नेतृत्व मे मुस्लिम संस्थाओ एवं मुस्लिम धर्मगुरुओं द्वारा चाइनीज़ सामन का बहिष्कार किया

दिल्ली(अमन इंडिया)। और चीनी सामान को नष्ट कर चीन के राष्ट्रपति का पुतला दहन कर विरोध प्रदर्शन किया! इरफान अहमद जी ने अपने बयान में कहां कि यह सब सन 1950 मैं  नेहरू जी की गलत नीतियों का परिणाम है जो कि पूरा देश झेल रहा है देश में ऐसे बहुत से मुद्दे थे जोकि नेहरू जी की कांग्रेस के द्वारा दिए गए थे लेकिन सन 2014 में मोदी सरकार को जनता ने देश की सेवा करने का मौका दिया तो जो मुद्दे देश को वर्षों से दीमक की तरह खा रहे थे ऐसे जटिल मुद्दों को खत्म करने का काम मोदी सरकार 2.0 ने किया, जैसे कि धारा 370, 35A, एक देश, एक निशान, एक विधान, एक संविधान, राम मंदिर का मुद्दा, मुस्लिम बहन बेटियां कुरीतियों से जूझ रही थी जैसे कि तीन तलाक जैसे अपराध को खत्म किया. पाकिस्तान से आए अल्पसंख्यक समाज के लोग 65 वर्षों से हिंदुस्तान में शरणार्थी बन कर रह रहे थे CAA के माध्यम से मोदी सरकार ने उनको भारतवर्ष की नागरिकता देने का कार्य किया. समूची कांग्रेस पार्टी ने चीनी सेना द्वारा की गई लद्दाख में भारतीय सेना के ऊपर अमानवीय हरकत पर मोदी सरकार और सेना पर सवाल उठाए थे लेकिन कांग्रेस को यह नहीं पता कि भारत की मोदी सरकार व भारतीय सेना चीन ही नहीं बल्कि किसी भी पड़ोसी मुल्क को जवाब देने के लिए सक्षम है हमारी सेना ने चीन के लगभग 40 से 45 जवानों को मार गिराया, फिर भी कांग्रेस सेना और सरकार की #नियत पर संदेह करती रहती है लेकिन कुछ ताकत है जो मोदी विरोध करते करते देश का व देश की सेना का विरोध करने में जुट गई है हमें गर्व है अपनी सेना पर और सेना को पूरी छूट है वह जो भी देश हित में उचित कदम उठाना चाहे तो उठा सकती हैं उन पर सरकार की कोई बंदिश नहीं है सेनाओं को अपनी देश की सीमाओं को सुरक्षित करने के लिए किसी भी आदेश की जरूरत नहीं है. हमारे देश की #बिहार रेजीमेंट ने यह कारनामा करके दिखाया है की लगभग 400 चीनी सैनिकों से भारतीय 100 सैनिकों ने डटकर मुकाबला कर अपनी सीमाओं को सुरक्षित करने का कार्य किया है हम सेना के शौर्य को सलाम करते हैं आज मोदी जी के नेतृत्व में एवं गृह मंत्री अमित शाह जी, रक्षामंत्री श्री राजनाथ सिंह जी के हाथों में देश की सीमाएं सुरक्षित है. सभी देशवासियों को आश्वस्त करता हूं कि आज देश में मोदी सरकार है देश हित में फैसले लेने वाली सरकार है सेना सशक्त हैं हर हिंदुस्तानी सुरक्षित है हमारे पड़ोसी मुल्क चाहे वह पाकिस्तान हो, चाहे वह चीन हो, जो भी हमारी सीमाओं की तरफ नजर उठाकर देखेगा भारतीय सेना उसका जवाब ही नहीं बल्कि उनकी आंख निकालने की कूवत रखती, यह 1962 का भारत नहीं है यह आज का भारत है यह #मोदी सरकार का भारत है. जो भारत को छेड़ेगा सेना उसको नहीं छोड़ोगी LAC पर भारतीय सेना को खुली छूट है !! इस मौके पर पूर्व महामंत्री दिल्ली प्रदेश अल्पसंख्यक मोर्चा मोहम्मद सगीर, मौलाना इंतजार कासमी, डॉ इकबाल गौरी, सरदार मनमोहन मल्होत्रा एवं भाजपा और मुस्लिम संस्थाओं के लोग मौजूद रहे !!